हिमाचल हस्तशिल्प और हथकरघा युवाओं को डिजाइन बनाने का गुर सिखा रहा

हिमाचल हस्तशिल्प एवं हथकरघा निगम जिला चंबा के युवाओं को पुरातन कलाओं के गुर सिखा कर उन्हें स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रशिक्षित कर रहा है। इस प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से भत्ता भी दिया जा रहा।

चम्बा, ( रेखा ): हिमाचल हैंडीक्राफ्ट एंड हैंडलूम कारपोरेशन के सौजन्य से जिला के हैंडीक्राफ्ट विभाग चम्बा में आयोजित तीन मासिक प्रशिक्षण शिविर के दौरान प्रशिक्षुओं ने विभिन्न बारिकियां हासिल की।

 

सामान्य जाति क्षेत्र उपयोजना के तहत आयोजित इस शिविर में लगभग 10 प्रशिक्षु लेखराज से टरेस डिजाइन का प्रशिक्षण हासिल कर रहें हैं। हैंडीक्राफ्ट निगम प्रबंधक विक्रांत गिल ने बताया कि विभाग की ओर से जिला के विभिन्न क्षेत्रों में इस तरह के प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों प्रशिक्षु इस योजना का लाभ उठा रहे  हैं।

 

उन्होंने कहा इस योजना के तहत शहर के चौगान बाजार में सिल्वर ज्वेलरी, कसाकड़ा मोहल्ला में गद्दी ड्रेस, जडे़रा गांव में काष्ठ कला सहित जिला के अन्य स्थानों में भी प्रशिक्षण प्रदान  किए जा रहें हैं जिसमें बढ़ चढ़ कर प्रशिक्षु भाग ले रहें हैं।

 

उन्होंने कहा कि हमारी पुरातन कलाएं विलुप्त न हों और उन्हें सहेज के रखा जा सके इस उद्देश्य से यह प्रशिक्षण शिविर आयोजत किया गया है। सरकार द्वारा हर जाति वर्ग के लिए विभिन्न योजनाएं विभाग के माध्यम से चलाई जा रही हैं।

 

ये भी पढे़: हिमाचल में करोड़ों के गहने पकडे़।

 

प्रशिक्षण के दौरान युवाओं व युवतियों को प्रतिमाह भत्ता राशि भी दी जाती है। उन्होंने जिला के लोगों से यह आह्वान किया है कि इस तरह के प्रशिक्षण को हासिल करने के लिए इच्छुक उम्मीदवार उनके कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं।

 

ये भी पढे़: क्यों जल रहे हैं पांगी के जंगल। 

 

शिविर 31 अक्टूबर को संपन्न होगा। प्रशिक्षु रेजू ,अंजलि, शीतल, मंजीत ने कहा कि उन्होंने इस प्रशिक्षण शिविर में अपने ट्रेनर से कई तरह के डिजाइन बनाना सीखे। यह प्रशिक्षण उनके लिए बहुत लाभदायक रहा जिसका फायदा वे अपने भविष्य में उठाएंगें। 

 

ये भी पढे़: चम्बा में नौकरियों की भरमार।  

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *