पांगी घाटी में भारी हिमपात जनजीवन प्रभावित, डेढ़ फीट तक बर्फ गिरी,बर्फबारी का दौर जारी

पांगी, ( इंद्रप्रकाश ): जिला चंबा की जनजातीय पांगी घाटी में भारी हिमपात से जनजीवन प्रभावित हुआ है। इसके कारण घाटी में बिजली-पानी ठप्प हो गया है। मौसम के इस मिजाज के चलते पांगी वासी घरों में दुबकने को मजबूर होना पड़ा है। कड़ाके की ठंड पड़ने व भारी बर्फबारी होने के कारण यहां का जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। पेयजल पाईप लाईने जम गई है जिससे पेयजल व्यवस्था प्रभावित हुई है तो बिजली भी गुल हो गई है। ऐसे में पांगी वासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
जानकारी के अनुसार पांगी घाटी के फिंडपार गांव में बुधवार की सुबह तक डेढ़ फुट ताजा हिमपात दर्ज हुआ है तो लुज में भी डेढ़ फुट बर्फ हो चुकी है। घाटी में भारी बर्फबारी का दौर अभी भी जारी है। भारी बर्फ गिरने की वजह से पांगी का पारा शुन्य से नीचे चला गया है जिस कारण पांगी में पेयजल की विकट स्थिति पैदा हो गई है जिससे खुद को निजात दिलाने के लिए लोग अब बर्फ को पिघला कर काम चलाएगे। पांगी उपमंडल में जगह-जगह बिजली की लाईने टूट गई हैं। घाटी के कई गांव इस कारण से अंधेरे में डूब गए है।

 

 

ये भी पढ़ें: गाड़ी सहित तीन गिरफ्तार।

 

पागी में हुई इस भारी हिमपात की वजह से भले यहां का जनजीवन प्रभावित हुआ हो लेकिन इस स्थिति के बीच यहां के बागवानों के चेहरे खिल उठे हैं क्योंकि पांगी घाटी में इस बार की सर्दियों में बीते वर्षों के मुकाबले अभी तक कम हिमपात दर्ज हुआ था जिससे सेब की फसल पर इसका असर पड़ने की बात कही जाने लगी थी लेकिन अब बागवानों में सेब की फसल को लेकर पैदा हुआ यह भय समाप्त होता नजर आने लगा है।

 

 

ये भी पढ़ें: ऐसे अधिकारियों-कर्मचारियों की अब खेर नहीं !

 

इसकी वजह यह है कि अब सेब के पेड़ों को जितने घंटों का चिलिंग आवर्स मिलने चाहिए थे उनके पूरा होने की उम्मीद बंध गई है। उधर पांगी का शेष विश्व के साथ सड़क संपर्क पूरी तरह से कटने के साथ-साथ घाटी के गांवों को एक-दूसरे के साथ जोड़ने वाली सड़कें भी इस बर्फ की वजह से अवरूद्ध हो गई है। बुधवार सुबह भी घाटी में बर्फ गिरने का दौर जारी था।

 

 

ये भी पढ़ें: चंबा की आवाज के समाचार पढ़ने के लिए मुझे क्लीक करे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *