कांग्रेस सरकार में चंबा की स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई: जय सिंह, कांग्रेस सत्ता के नशे में चूर

चंबा, ( रेखा शर्मा ): कांग्रेस सरकार में चंबा की स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई हुई है लेकिन कांग्रेस सत्ता के नशे में चूर है जिस वजह से उसे लोगों की यह परेशानी नजर नहीं आ रही। लोगों को सरकारी सुविधा से वंचित रहना पड़ रहा है। बीते 17 दिनों से मेडिकल कॉलेज चंबा की सरकारी लैब में टैस्ट नहीं हो रहें हैं लेकिन कांग्रेस सरकार व उसके नुमाइंटे मूक दर्शक बने हुए है। हिमाचल प्रदेश BJP सचिव जयसिंह ने यह बात कही।

 

कांग्रेस सरकार में चंबा की स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई: जय सिंह

           BJP नेता जय सिंह जानकारी देते

 

चंबा की स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कांग्रेस सरकार को घेरते हुए भाजपा नेता ने कहा कि इस सरकारी व्यवस्था के ठप होने की वजह से जिला चंबा की गरीब जनता को प्राइवेट लेबोरेटरी की ओर रुख करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इस कारण लोगों को मानसिक परेशानी उठानी पड़ रही है तो साथ ही आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ रहा है।

 

 

ये भी पढ़ें: चंबा के बाल विवाह के खिलाफ अलख जगाया।

 

भाजपा प्रदेश सचिव जय सिंह ने कहा कि बेहद अफसोस की बात है कि चुनावों में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने का दावा करने वाली कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में जिला चंबा के मेडिकल कॉलेज की स्वास्थ्य सेवाएं इस कदर चरमराई हुई है कि चिकित्सकों की कमी के साथ पैरामेडिकल स्टाफ की कमी और स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों की तंगी के चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

 

ये भी पढ़ें: BJP सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला।

 

उन्होंने कहा कि हालत इस कदर बदतर हो चुके हैं की मेडिकल कॉलेज चंबा में कार्यरत डाक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ यहां से अपना तबादला करवाने की फिराक में हैं। जय सिंह ने इस मामले को लेकर मेडिकल कॉलेज चंबा के अध्यक्ष डॉक्टर देवेंद्र से मुलाकात कर शीघ्र बंद पड़ी टेस्ट प्रक्रिया को फिर से शुरू करवाने को कहा।

 

ये भी पढ़ें: अब फरलू नहीं मार सकेंगे वन कर्मी।

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार है तो जिला चंबा के चंबा विधानसभा व भटियात विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कांग्रेस के विधायक कर रहे हैं लेकिन अफसोस की बात है कि यह सत्ताधारी जनप्रतिनिधि लोगों की इस परेशानी से अनजान बने हुए हैं। प्रदेश भाजपा सचिव ने कहा कि जय राम सरकार के कार्यकाल में जिला चंबा के लोगों को इस प्रकार की चिकित्सा सुविधा पाने के लिए लोगों को परेशान नहीं होना पड़ा बल्कि लोगों को घर द्वार स्वास्थ्य टेस्ट सुविधा मुहैया करवाई गई। उन्होंने कहा कि शीघ्र बंद पड़ी इस व्यवस्था को बहाल नहीं किया गया तो भाजपा सड़क पर उतरने को मजबूर होगी।
ये भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन बोर्ड पर बड़ा फैसला।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *